महामारी बना रही नए रिकार्ड, इंदौर में 1552 तो भोपाल में 1456 नए संक्रमित


इंदौर में कोविड केयर सेंटर जगतगुरु दत्तात्रेय कोविड केयर सेंटर ग्राम सिंहासा, दिल्ली इंटरनेशनल स्कूल के सामने, धार रोड इंदौर में स्थित है…


देश गांव
बड़ी बात Updated On :

इंदौर। कोरोना संक्रमण के कम होने के फिलहाल कोई आसार नज़र नहीं आ रहे हैं। हर नए दिन संक्रमण बढ़ ही रहा है और सोमवार को जारी बुलेटिन में तो रिकार्ड ही टूट गया है। इंदौर में 12 अप्रैल को 1552 नए संक्रमित मिले हैं और भोपाल में 1456 नए संक्रमित मिले हैं और प्रदेश में 6489 नए संक्रमित मिले हैं।

इंदौर में अब पॉजिटिव रेट बढ़कर 18 प्रतिशत तक पहुंच गया है। इस बुलेटिन के मुताबिक सोमवार को छह लोगों की मौत हुई और अब तक मरने वालों की संख्या 1011 हो चुकी है।  इंदौर में अब तक संक्रमित होने वालों की कुल संख्या 80986 है। फिलहाल इंदौर में 8384 सक्रिय मरीज़ हैं।

एक दिन में 1552 नए संक्रमित मिलना एक नया रिकार्ड है। यह इस साल में अब तक मिली सबसे बड़ी संख्या है। पिछले साल अप्रैल के पूरे महीने में करीब चौदह सौ संक्रमित मिले थे।

इस दौरान इंदौर शहर के कई हिस्सों में कोरोना संक्रमित मिल रहे हैं। तीन इलाकों में नए माइक्रो कंटेनमेंट एरिया बनाए गए हैं। इनमें सिल्वर ऑक्स कालोनी के मकान नंबर एन1, ओ-पी और मकान नंबर एन-1 से सीपी तक, सुदामा नगर सेक्टर-डी के मकान नंबर 1851 से 1857 व 1858 से 1864 डी तक और मल्हारगंज की गली नंबर-6 शामिल हैं।

कलेक्टर मनीष सिंह ने एपिडेमिक डिजीज एक्ट2020 के तहत इन कंटेनमेंट एरिया की निगरानी के लिए अधिकारियों के दल भी गठित किए हैं। दल में शामिल इंसिडेंट कमांडर, राजस्व, पुलिस एवं नगर निगम के अधिकारी माइक्रो कंटेनमेंट एरिया की नियमित रूप से निगरानी करेंगे। कोविड संक्रमण के पाजिटिव केस के परिजन और निकट संपर्क को क्वारंटाइन कराया जाएगा। माइक्रो कंटेनमेंट एरिया की समयावधि सात दिन रहेगी।

कोविड के नोडल अधिकारी डॉ. अमित मालाकार ने बताया कि बुधवार को पाजीटिविटी 18 प्रतिशत से ऊपर पहुंच गया है और रिकवरी रेट में भी कमी आ रही है। वहीं उन्होंने बेड आक्यूपेंसी को लेकर कहा कि शहर में अस्थायी अस्पताल की तैयारी चल रही है और शहर में कोविड केयर सेंटर शुरू किया जा चुका है।

बता दें कि इंदौर में कोविड केयर सेंटर जगतगुरु दत्तात्रेय कोविड केयर सेंटर ग्राम सिंहासा, दिल्ली इंटरनेशनल स्कूल के सामने, धार रोड इंदौर में स्थित है जहां आज से  उन मरीजों को जो ए सिम्प्टोमेटिक यानी जिनमें लक्षण नज़र नहीं आ रहे हैं और जिन्हें होम आइसोलेशन की सुविधा उपलब्ध नहीं है उन्हें भर्ती किया जाएगा। 100 रोगियों के सेंटर में RRT द्वारा विधिवत जांच मरीजों को उपचार/आइसोलेशन के लिए रिफर किया जाएगा।



Related