किसान आंदोलन: 14 दिसंबर को दिल्ली के मुख्यमंत्री सहित AAP कार्यकर्ता भी किसानों के समर्थन में करेंगे उपवास


अरविंद केजरीवाल ने किसानों के समर्थन में कल एक दिन के भूख हड़ताल पर बैठने का एलान करते हुए सभी आप कार्यकर्ताओं और समर्थकों से एक दिन का उपवास रखने की अपील की है।


देश गांव
उनकी बात Updated On :
फाइल फोटो


नई दिल्ली।  केंद्र के नए कृषि कानूनों के विरोध में 14 दिसंबर को सभी किसान नेता सिंघू बॉर्डर पर उपवास पर बैठेंगे। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी किसानों के समर्थन में कल एक दिन के भूख हड़ताल पर बैठने का एलान करते हुए सभी आप कार्यकर्ताओं और समर्थकों से एक दिन का उपवास रखने की अपील की है।

केजरीवाल ने कहा कि, कुछ केंद्रीय मंत्री किसानों को देशद्रोही कह रहे हैं. कई पूर्व सैनिक और अधिकारी , राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी, गायक, व्यापारी, डॉक्टर किसानों का समर्थन कर रहे हैं. क्या बीजेपी वाले इन सभी लोगों देशद्रोही मानते हैं?

आप नेता और दिल्ली सरकार में मंत्री गोपाल राय ने कहा है कि, किसान आंदोलन के समर्थन में आम आदमी पार्टी कल पार्टी मुख्यालय ITO पर सुबह 10 से शाम 5 बजे तक सामूहिक उपवास करेगी।

उन्होंने कहा कि, केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए कृषि कानूनों के विरोध में किसान सड़कों पर हैं। जिसमें अब तक 11 किसानों की जान जा चुकी है और केंद्र सरकार अपने अहंकार में चूर है।

वहीं, आम आदमी पार्टी के नेता और राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने कहा कि, कल उत्तर प्रदेश के 75 जिलों में पार्टी मुख्यालयों में  सम्मान में अन्नदाता के लिये अनशन” करेंगे।

बता दें कि, सिंघु बॉर्डर से संयुक्त किसान आंदोलन के नेता कमल प्रीत सिंह पन्नू ने कहा था कि, यूनियन नेता 14 दिसंबर को भूख हड़ताल पर बैठेंगे। यदि सरकार वार्ता करना चाहती है, तो हम तैयार हैं; लेकिन हम पहले तीन नए कृषि कानूनों को निरस्त करने पर चर्चा करेंगे।

 



Related