जनसुनवाई में घासलेट की बोतल लेकर पहुंचा दो साल से परेशान हो रहा आवेदक, पुलिसकर्मी ने छीनी बोतल


संबल योजना में आयु गलत लिखने पर बेटे (आवेदक) को नहीं मिल पा रही सहायता राशि की वजह से दो साल से परेशान हो रहा है।


देश गांव
धार Updated On :
dhar kerosine bottle

धार। मंगलवार को जिला पंचायत सभाकक्ष में होने वाली जनसुनवाई में एक पीड़ित आवेदन के साथ घासलेट की बोतल लेकर पहुंच गया, हालांकि बोतल निकालने के पूर्व ही उसे ड्यूटी पर मौजूद पुलिसकर्मी ने देख लिया व तुरंत बोतल को छीन लिया।

इसके बाद प्रशासनिक अधिकारियों ने आवेदक की समस्या को सुना तथा उचित कार्रवाई का आश्वासन भी दिया है। इधर घासलेट लेकर पहुंचे युवक से सीएसपी व टीआई ने भी पूछताछ की व बोतल को जब्त कर लिया।

पीड़ित आवेदक जिला पंचायत सीईओ के समक्ष मौजूद होकर बोतल को निकालने का प्रयास ही कर रहा था, इसी बीच उसे पुलिसकर्मी ने देख लिया था। पुलिसकर्मी ने तत्परता दिखाते हुए बोतल को उसके कब्जे से छुड़ा लिया।

पिता की मौत के बाद परेशान –

आवेदक रवि निवासी बदनावर ने बताया कि पिता अमरसिंह की मौत हार्ट अटैक से दिनांक 11 मई 2019 को हो गई थी। इसके पूर्व ही संबल योजना के तहत असंगठित श्रमिक योजना में पंजीयन 09 मई 2018 को करवा लिया था।

पिता की मृत्यु के बाद रवि ने योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन किया तो पंजीयन में जन्म दिनांक गलत लिखी होने के कारण आवेदन को निरस्त करते हुए राशि नहीं दी जा रही है जिसके लिए रवि पिछले दो सालों से परेशान हो रहा है।

पंजीयन कार्ड में 18-09-1953 जन्म दिनांक लिखा हुआ, जबकि पिता की सही जन्मतिथि 01-01-1965 है। इसको प्रमाणित करने के लिए रवि के पास पिता का आधार कार्ड, वोटर आईडी भी मौजूद है, जिसके बावजूद भी कार्ड में बदलाव नहीं किया जा रहा।

संबल कार्ड में जन्मतिथि सुधारने के लिए युवक आवेदन लेकर आया था, पूर्व में की गई जांच में कार्ड सही नहीं पाया गया था। एक बार पुनः जांच होने के बाद रिपोर्ट बुलाई जाएगी, शासन के नियमानुसार उचित कार्रवाई की जाएगी।
– किशोरीलाल मीणा, सीईओ, जिला पंचायत धार



Related