इंदौर में कोरोना से अब तक हुई 1017 मौत, 9275 का इलाज जारी


जिला प्रशासन ने बुधवार सुबह 6 बजे से शाम 4 बजे तक फल- सब्जी एवं किराने की दुकानों को खोलने की छूट दी है। वहीं सुबह 6 से शाम 7 बजे तक दूध वितरण के लिए दूध डेयरी भी खुली रह सकती है।


DeshGaon
इन्दौर Updated On :
Indore covid-19

इंदौर। जिले में मंगलवार को जारी हुए कोरोना बुलेटिन में एक बार फिर डराने वाली स्थिति सामने आई है। यहां 1611 नए संक्रमित मिले हैं और संक्रमण के चलते ही  छह लोगों की मौत भी हुई है। आंकड़ों के मुताबिक अब तक कुल 1017 नागरिक इस संक्रमण का शिकार बन चुके हैं।

फिलहाल इंदौर में एक्टिव मरीज़ों की कुल संख्या 9275 तक जा पहुंची है। भले ही इंदौर लॉक डाउन के दौर में कोरोना कर्फ्यू का असर हो लेकिन इस बात से जानकार भी इंकार नही कर रहे हैं कि कोरोना की ये दूसरी लहर आने वाले दिनों में खतरे को और बढ़ा सकती है। ऐसे में लोगों को घर पर रहना चाहिए और बहुत जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकलना चाहिए और मास्क सहित अन्य जरूरी नियमों का पालन करना चाहिए।

आज से किराना दुकान और सब्जी बेचने वालों को मिली ये छूट –

भले ही इंदौर में कोरोना तेजी से पैर पसार रहा हो लेकिन इंदौर में लोगो को खान-पान और राशन के लिहाज से किसी दिक्कत का सामना न करना पड़े इसलिए जिला प्रशासन ने बुधवार सुबह 6 बजे से शाम 4 बजे तक फल- सब्जी एवं किराने की दुकानों को खोलने की छूट दी है। वहीं सुबह 6 से शाम 7 बजे तक दूध वितरण के लिए दूध डेयरी भी खुली रह सकती है।

इसके अलावा प्रशासन के द्वारा भी इंतज़ाम जारी हैं। जिला प्रशासन और स्वस्थ्य विभाग ने धार रोड़ स्थित सिंहासा के कोविड केयर सेंटर को शुरू करने के बाद एक और कोविड केयर सेंटर बनाए जाने की तैयारी शुरू कर दी है। इसके लिए खंडवा रोड स्थित राधा स्वामी सत्संग व्यास के विशाल मैदान में कोविड केयर सेंटर के निर्माण की तैयारी की जा रही है। अगले दो दिन में इसे तैयार करने का प्रयास जारी है।

बता दें कि पहले चरण में यहां 500 बेड दूसरे चरण में एक हज़ार और आवश्यकता पड़ने पर 2 हजार बेड की व्यवस्था भी जा सकती है। मंगलवार को चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी परिसर का निरीक्षण करने पहुंचे।

यहां कोविड के नोडल अधिकारी डॉक्टर अमित मालाकार ने बताया कि पहले चरण में परिसर में 500 बेड तैयार किये जा रहे हैं और हर 50 बेड के ब्लॉक में एक डॉक्टर, 3 स्टॉफ नर्स और एक सहयोगी स्टाफ राउंड द क्लॉक ड्यूटी देगा। उन्होंने बताया कि जिन एसिम्प्टोमेटिक यानी बिना लक्षणों वाले मरीजों को यहां आइसोलेशन के लिए सुविधा दी जाएगी। जिनके खाने-पीने सहित चिकित्सकीय सुविधाएं निःशुल्क रहेगी।

 



Related






ताज़ा खबरें