नरसिंहपुर: नदी में डूबने से दो बच्चों की मौत, सूचना मिलने पर भी नहीं पहुंचे अधिकारी


घटना की सूचना मिलने के बावजूद अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचे। परिवार के सदस्य बालक-बालिका के शव लेकर अस्पताल पहुंचे। वहां पुलिस पहॅुची और बयान दर्ज किए।


देश गांव
जबलपुर Published On :

नरसिंहपुर। दो परिवार में दीवाली के पहले ही खुशियां मातम में बदल गई। गाडरवारा में अपने परिवार के साथ कपड़े धोने के लिए नदी में गए तीन बच्चे नहाते वक्त गहरे पानी में चले गए जिससे दो की डूबने से मौत हो गई। यह दोनों बच्चे मौसेरे भाई-बहन थे। इसमें एक 12 साल की बालिका अपनी नानी के यहां आई थी।

मंगलवार की दोपहर करीब डेढ बजे गाडरवारा के गिरी कालोनी, गांधी वार्ड में रहने वाले ठाकुर परिवार की 3-4 महिलाएं, तीन बच्चों, प्रियांशु ठाकुर 14 वर्ष, दुर्गा ठाकुर 12 वर्ष और अंजलि 12 वर्ष के साथ शक्कर नदी संगम घाट में कपड़ा धोने के लिए गई थीं। महिलाएं जब कपड़े धोने में व्यस्त रही तो तीनों बच्चे शक्कर व सीतारेवा के नदी के संगम के नजदीक पहुंच गए व वहां नहाने लगे। नहाते-नहाते तीनों गहरे पानी में चले गए। इनमें अंजलि ठाकुर को वहां मौजूद नन्हा श्रीवास नामक व्यक्ति ने बचा लिया। लेकिन प्रियांशु ठाकुर पिता महेन्द्र ठाकुर व दुर्गा ठाकुर गहरे पानी उस स्थान पर डूब गए जहां गहरा गड्डा था। यह स्थान रेल्वे पुल के नजदीक पड़ता है।

दोनों के शव सिविल अस्पताल गाडरवारा लाए गए। जहां उनका पोस्टमार्टम कराया गया। दुर्गा का शव उसके पिता और परिजन लेने के लिए तेंदूखेड़ा से पहुंचे। हादसे की शिकार दुर्गा अपनी माँ के साथ बीते दिनों तेंदूखेड़ा जिला नरसिंहपुर से अपनी नानी के घर आई थी। दोनों मौसेरे भाई बहन थे। मृतक बालक-बालिका के पिता मजदूरी करते हैं।

नहीं पहुंचे अधिकारी

घटना की सूचना मिलने के बावजूद अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचे। परिवार के सदस्य बालक-बालिका के शव लेकर अस्पताल पहुंचे। वहां पुलिस पहॅुची और बयान दर्ज किए।



Related