पुलिस के सामने पेश हुआ लखीमपुर हिंसा का आरोपी आशीष, एक बड़े नेता की सलाह पर उठाया गया कदम


मंत्री अजय मिश्रा टेनी पिछले दिनों ही अपने विभाग के सीनियर देश के गृह मंत्री अमित शाह से मिले थे


देश गांव
उनकी बात Updated On :

सुप्रीम कोर्ट द्वारा उप्र पुलिस पर की गई सख्त टिप्पणी के बाद लखीमपुर हिंसा का मुख्य आरोपी और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी का बेटा आशीष शनिवार को क्राइम ब्रांच के सामने पेश हुआ। एक दिन पहले ही मिश्रा के घर पर पुलिस ने समन चिपकाया था और आशीष को शनिवार सुबह ग्यारह बजे पेश होने के लिए कहा गया था। इसके बाद आशीष शनिवार को अचानक 10.40 मिनिट पर क्राइम ब्रांच के दफ्तर में पहुंचा। उसे क्राइम ब्रांच के पीछे के दरवाजे से भीतर ले जाया गया।

आशीष को गिरफ्तार न करने को लेकर उप्र पुलिस की काफी फजीहत पहले से ही हो चुकी है। ऐसे में पुलिस ने एक बार फिर आशीष को मीडिया से बचाते हुए पीछे के दरवाजे से अंदर ले जाने का फैसला किया। जिसके बाद उससे पूछताछ की जा रही है। यहां डीआईजी, एसपी विजय कुमार ढुल खुद मौके पर मौजूद रहे।

आशीष पर लगे आरोपों को लेकर उससे पूछे जाने वाले सवाल पुलिस के पास तैयार हैं और अब उम्मीद की जा रही है कि पुलिस अगले करीब दो दिन केवल पूछताछ ही करेगी। इस दौरान थाने के सामने काफी भीड़ है।

आशीष मिश्र से पूछताछ के बाद उनकी गिरफ्तारी तय मानी जा रही है। स्थानीय लोग दावा कर रहे हैं कि जिस थार जीप ने किसानों को कुचला था उसके पीछे निकली फॉर्च्यूनर में आशीष मिश्र बैठे थे। माना जा रहा है कि यह सबूत सामने आने पर आशीष की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

दैनिक भास्कर की खबर के मुताबिक गुरुवार को केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र दिल्ली में थे। सूत्रों का कहना है कि आशीष को पुलिस के सामने पेश होने के लिए अजय मिश्र के पास किसी बड़े नेता ने संदेश भेजा था।

इसके बाद वे लखनऊ के लिए रवाना हुए और कहा कि आशीष शनिवार को पुलिस के सामने सामने पेश हो जाएंगे और जांच में सहयोग करेंगे। केंद्रीय मंत्री का ये बयान सुप्रीम कोर्ट की सख्ती के बाद सामने आया है, क्योंकि इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने UP सरकार को फटकार लगाई है।

उल्लेखनीय है कि मंत्री अजय मिश्रा टेनी पिछले दिनों ही अपने विभाग के सीनियर देश के गृह मंत्री अमित शाह से मिले थे। जिसके बाद तरह तरह के सवाल उठते रहे।

लखीमपुर मामले में सियासत जारी है। प्रियंका, राहुल गांधी और अखिलेश यादव के बाद अब पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिद्धू ने लखीमपुर में डेरा जमा लिया है।

शुक्रवार शाम को लखीमपुर पहुंचे सिद्धू मौन व्रत रख अनशन पर बैठ गए हैं। सिद्धू पहले हिंसा में मारे गए किसान लवप्रीत और फिर पत्रकार रमन के यहां पहुंचे।

उन्होंने कहा कि जब तक केंद्रीय मंत्री का आरोपी बेटा गिरफ्तार नहीं कर लिया जाता, तब तक मौन धारण कर भूख हड़ताल पर बैठे रहेंगे।



Related