खाद के लिए किसानों में मारामारी, प्रदेश के कई हिस्सों में परेशान किसान


केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने किये थे खाद की आपूर्ती के दावे लेकिन हालात उलट


देश गांव
उनकी बात Published On :
खाद के इंतजार में बैठे किसान


भोपाल। प्रदेश के कई हिस्सों में इन दिनों खाद की समस्या देखी जा रही है। पिछले करीब एक महीने से अधिक समय से खाद की कमी की खबरें लगातार आ रहीं हैं। इस दौरान कई स्थानों पर तो किसान खाद की कमी और अव्यवस्था से परेशान होकर हंगामा करते हुए भी देखे जा सकते हैं। शिवपुरी क्षेत्र में हालात और भी खराब हैं।

बुधवार को एक बार फिर यहां खाद के लिए परेशान होते किसानों को देखा गया। जिसका एक वीडियो सोशली मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। विपक्षी नेता भी इसे लेकर सरकार पर हमलावर हो रहे हैं।  हालांकि पिछले महीने केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने इन क्षेत्रों में खाद की आपूर्ती सुनिश्चित करने के लिए जरूरी प्रयास करने की बात कही थी लेकिन शिवपुरी से आ रहे इन नजारों से काफी हद तक जमीनी हकीकत सामने आ रही है।

शिवपुरी में खाद की समस्या  गंभीर होती जा रही है। यहां अब हालात ऐसे हो गए हैं कि खाद के लिए आंदोलन कर रहे किसान अब खाद के लिए एक-दूसरे को मारने-पीटने पर उतारू हो गए हैं। ऐसा ही नजारा मंगलवार को खाद गोदाम में देखने को मिला। यहां पर एक महिला ने खाद के लिए खड़े युवक को चप्पलों से पीट दिया। इस घटना को लेकर कांग्रेस नेता जयवर्धन सिंह ने भी सरकार पर सवाल उठाए।

करैरा के मार्कफेड गोदाम से खाद वितरण के लिए कृषि उपज मंडी प्रांगण में दो-दो बोरी की पर्चियां बाटी जा रही थीं। पर्चियों के लिए किसान रात साढ़े ग्यारह बजे से पहुंचना शुरू हो गए थे। हालात यह रहे थे कि मार्कफेड के पास 100 मीट्रिक टन खाद यानि करीब 2 हजार बोरिया दोपहर तक ही खत्म हो गई और पांच सौ से अधिक किसानों को मायूस होकर लौटना पड़ा, जिसके चलते वहां मारपीट तक हो गई। एक महिला किसान ने तो एक पुरुष किसान की चप्पल से पिटाई कर दी, जिसका वीडियो सामने आया है।

पिछले दिनों केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने खाद की उपलब्धता के लिए जरूरी कदम उठाने की बात कही थी। इसके बाद उनके सर्मथकों ने इसका काफी प्रचार भी किया था लेकिन शिवपुरी में किसानों के हालात फिलहाल ठीक नजर नहीं आ रहे हैं।