नीमच में आदिवासी को चोरी के शक में पीटा और फिर ट्रक के पीछे बांधकर घसीटा, दर्दनाक मौत


कान्हा ने क्या चुराया किसी को पता नहीं लेकिन मिली दर्दनाक मौत


देश गांव
उनकी बात Published On :

इंदौर। प्रदेश में मॉब लिंचिंग की घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं। अब नीमच जिले में एक आदिवासी युवक के साथ हुई बर्बरता के बाद उसकी मौत हो गई है। इस घटना का वीडियो बेहद डराने वाला है।

इस घटना में गरीब आदिवासी युवक को चोरी के शक में पीटा गया और फिर उसे बीच सड़क पर ले जाकर एक पिकअप वाहन के पीछे बांधकर घसीटा गया। इसके बाद युवक गंभीर रूप से घायल हो गया और उसकी मौत हो गई। घटना का वीडियो वायरल होने के काफी देर बाद पुलिस हरकत में आई और चार लोगों को गिरफ्तार किया गया।

नीमच के सिंगोली थाना क्षेत्र में हुई यह घटना 26 अगस्त की बताई जा रही है जिसका वीडियो अब वायरल हो रहा है। आरोपियों ने आदिवासी युवक कन्हैयालाल भील को चोरी का लगा कर पहले तो जमकर पीटा फिर पिकअप वाहन में बांधकर उसे घसीटा। गंभीर अवस्था में कन्हैयालाल भील को इलाज़ के लिए ले जाया गया जहां उसने दम तोड़ दिया।

मृतक कन्हैया लाल उर्फ़ कान्हा बाणदा का रहने वाला था और गुरुवार सुबह अपने दोस्त के साथ पत्नी को खोजने के लिए निकला था। इस दौरान वह आते-जाते लोगों से अपनी पत्नी के बारे में जानकारी ले रहा था। इसी दौरान उसे दूध बेचने जा रहे छीतर गुर्जर ने उसे देखा और चोर समझा।

छीतर ने उसे टक्कर मारकर गिरा दिया और पीटना शुरु कर दिया। इसके बाद मौके पर कुछ गांव वालों को बुला लिया और कान्हा को बुरी तरह पीटना शुरु कर दिया। इसके बाद उसे ट्रक में बांधकर करीब सौ मीटर तक घसीटा और बाद में अधमरी हालत में उसे छोड़कर भाग गए।

इस मामले में पुलिस ने पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें 32 साल का छीतर, 40 वर्षीय महेंद्र सिंह, गोपाल (40), लोकेश (21) और लक्ष्मण को गिरफ्तार कर उन पर हत्या का मामला दर्ज किया है।

हालांकि इस एक और घटना के सामने आने के बाद मध्यप्रदेश में कानून व्यवस्था पर गंभीर सवाल उठ रहे हैं और इसे लेकर कोई ठोस हल प्रदेश सरकार के पास फिलहाल नजर नहीं आ रहा है। इसे लेकर अब कांग्रेस पार्टी भी मुखर है।

इससे पहले इंदौर में एक चूड़ी वाले की पिटाई, देवास में एक कबाड़ खरीदने वाले की पिटाई भी की गई थी।



Related