सर, किस काम के लिये बने हो आप! झाबुआ कलेक्टर पर छात्रा का तंज़


एनएसयूआई के प्रदर्शन में शामिल हुई थी छात्रा निर्मला, कलेक्टर के न आने पर हुई थी नाराज़ अब सोशल मीडिया पर ट्रेंड में। सामाजिक कार्यकर्ता डॉ. आनंद राय ने कहा वे उठाएंगे निर्मला की यूपीएससी की पढ़ाई का खर्च


देश गांव
उनकी बात Updated On :

इंदौर। झाबुआ की कॉलेज छात्रा निर्मला चौहान का एक वीडियो इंटरनेट पर छाया हुआ है। इस वीडियो में उनके तेवर देखने लायक हैं जहां वे जिला कलेक्टर सोमेश मिश्रा को चुनौती दे रहीं हैं।

दरअसल पिछले दिनों झाबुआ में एनएसयूआई ने छात्रवृत्ति, बसों में छात्रों के लिए किराया कम करने  आदि के लिए प्रदर्शन किया था।

इस छात्रा का ये वीडियो सोशल मीडिया पर कांग्रेस नेताओं द्वारा खूब पसंद किया जा रहा है और कांग्रेसी नेता उनकी तुलना अपनी पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी से भी करने लगे हैं।

इस बीच सामाजिक कार्यकर्ता और आदिवासी मुद्दों पर मुखर होकर बोलने वाले डॉ. आनंद राय ने सोशल मीडिया पर निर्मला की यूपीएससी की पढ़ाई के लिए सारा खर्च उठाने का ऐलान कर दिया है।

पिछले दिनों हुए इस प्रदर्शन में काफी संख्या में कॉलेज विद्यार्थी शामिल हुए थे। इनमें से एक थीं झाबुआ के खंडाला खुशाल गांव के एक किसान परिवार की बेटी 18 वर्षीय निर्मला चौहान।

जब कलेक्टर ज्ञापन लेने नहीं पहुंचे तो बेरिकेड्स के पीछे खड़ी छात्राएं भड़कने लगीं और इसी समय निर्मला ने वीडियो पर कहा कि अगर आप आदिवासी स्टूडेंट्स की मांगें पूरी नहीं कर पाते, तो हमें कलेक्टर बना दो, हम सबकी मांगें पूरी कर देंगे।

वायरल हो रहे वीडियो में वे कह रहीं हैं…

नहीं तो सर हमको कलेक्टर बना दो।  हम कलेक्टर बनने के लिए तैयार हैं। सबकी मांगें पूरी कर देंगे सर, आप कर नहीं पाते तो। किसके लिए बनी है सरकार, जैसे क्या हम भीख मांगने के लिए यहां आए हैं। हमारे गरीब के लिए तो कुछ व्यवस्था तो करो सर। हम इतनी दूर से आते हैं आदिवासी लोग, किराये के कितने पैसे देकर आते हैं।

इस वीडियो में नजर आ रही लड़की का नाम निर्मला चौहान है। वह कॉलेज छात्रा है। सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद वह अपने क्षेत्र में स्टार बन गई हैं। युवा कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष विक्रांत भूरिया ने भी निर्मला और उनकी साथियों से मुलाकात की। उन्होंने निर्मला के जज्बे की तारीफ की और प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया।

 



Related