इंदौर में फिर हुआ सांप्रदायिक विवाद, मुस्लिम परिवार पर टूट पड़े सैकड़ों लोग!


गांव के चार-पांच परिवारों को नौ अक्टूबर तक गांव छोड़ने की दी थी धमकी


देश गांव
इन्दौर Updated On :

इंदौर। जिले में फिर एक बार सांप्रदायिक विवाद की चर्चा हो रही है। खुड़ैल थाना क्षेत्र के कंपेल गांव में शनिवार रात को विवाद हुआ। विवाद दो पक्षों में हुआ और फिर जमकर मारपीट हुई। खबरों की मानें तो एक मुस्लिम परिवार के घर को सैकड़ों की भीड़ ने घेर लिया। ये लोग जय श्री राम का नारा लगा रहे थे।

इस दौरान इन लोगों ने मुस्लिम परिवार के सदस्यों को पीटा और उन्हें गांव छोड़ने के लिए धमकाया।  इस हमले में पांच लोग घायल हुए हैं। मामले में मुस्लिम परिवार की शिकायत पर नौ लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। वहीं दूसरे पक्ष की ओर से भी पुलिस को शिकायत की गई है।

बताया जाता है कि कम्पेल गांव में 4-5 मुस्लिम परिवार कई सालों से रहते आ रहे हैं, लेकिन पीड़ित परिवार का कहना है कि एक महीने पहले गांववालों ने तुगलकी फरमान सुनाते हुए सभी मुस्लिम परिवारों को गांव से बाहर निकलने के लिए कहा था और पीड़ित परिवार की महिला के मुताबिक उन्हें गांव खाली करने के लिए नौ तारीख तक की मोहलत दी थी।

इस फरमान के बाद चार मुस्लिम परिवार तो गांव छोड़कर चले गए लेकिन एक परिवार नहीं गया। इसी को लेकर शनिवार, 9 अक्टूबर को 100-150 की भीड़ ने रात 8.30 बजे कथित तौर पर गांव खाली करने को लेकर विवाद किया और परिवार के साथ जमकर मारपीट की।

पीड़ित परिवार का आरोप है कि भीड़ ने “जय श्री राम” के नारे लगाते हुए घर पर पत्थरबाजी भी की, छोटे बच्चों और महिलाओं को भी निशाना बनाया। बताया जाता है कि यह हंगामा करीब आधे घंटे तक जारी रहा। इसके बाद परिवार के द्वारा खुड़ैल पुलिस थाने जाकर शिकायत की गई।

इसके बाद राज्य में कानून व्यवस्था और लगातार बढ़ रहे धार्मिक विवादों को लेकर सवाल भी उठ रहे हैं।  लोकसभा सांसद और AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कम्पेल गांव की घटना पर मध्यप्रदेश सरकार को घेरते हुए ट्वीट किया। उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और सूबे के DGP को टैग करते हुए सवाल किया कि “ क्या आप इन कट्टरपंथी गुंडों को गिरफ्तार करेंगे, क्या आपकी सरकार आपके संवैधानिक कर्तव्य का निर्वहन करेगी?



Related