चुनाव ख़त्मः मप्र और राजस्थान में 101 के पार पहुंचा पेट्रोल, आगे भी आसान नहीं जनता की राह


पेट्रोल-डीजल की कीमतों में 2 से 3 रुपए का इजाफा हो सकता है। ऐसे में आगने वाले दिनों में जब कोरोना का यह कर्फ्यू खत्म होगा तब जनता एक बार फिर महंगाई से परेशान होगी। 

 


देश गांव
बड़ी बात Updated On :

इंदौर। पांच राज्यों में चुनाव खत्म हो चुका है और अब एक बार फिर पेट्रोल-डीज़ल के दाम बढ़ा दिए गए हैं।  पेट्रोल की कीमत में मंगलवार को 15 पैसे और डीजल की कीमत में 18 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की गई है। इस साल में अब तक 27वीं बार ईंधन के दाम बढ़ाए गए हैं।

इसके साथ ही मध्यप्रदेश और राजस्थान के कुछ इलाकों में पेट्रोल 101 रुपये प्रति लीटर के पार निकल गया है। हालांकि इसके बाद भी पेट्रोल-डीज़ल के दाम आगे और बढ़ने का अंदेशा है।

बढ़ी हुई कीमतों के बाद दिल्ली में पेट्रोल 90.55 रुपये और डीजल 80.91 रुपये प्रति लीटर पर मिल रहा है। ईंधन की कीमत में यह बदलाव पूरे 18 दिन बाद हुआ है।

इस साल पेट्रोल-डीजल के दाम जनवरी में 10 बार और फरवरी में 16 बार बढ़े, जबकि मई में आज पहली बार कीमतें बढ़ी हैं। मार्च महीने में 3 बार और अप्रैल में 1 बार पेट्रोल-डीजल के दाम में कमी आई है। इससे पहले पेट्रोल-डीजल की कीमतों में आखिरी बार 27 फरवरी को बढ़ोतरी की गई थी।

इंदौर में अब 98.84 रुपये प्रति लीटर और डीज़ल 89.44 रुपये प्रति लीटर डीज़ल मिल रहा है। तेल कंपनियां प्रीमियम  पेट्रोल का दाम नहीं दे रही हैं। वहीं भोपाल में पेट्रोल 98.57 रुपये और डीज़ल 89.17 रुपये प्रति लीटर हो गया है।

रोजाना तय होने वाले ईंधन के ये दाम विधानसभा चुनावों के दौरान स्थिर नज़र आ रहे थे। बीते दो महीनों में पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव हो रहे थे और इसी दौरान कच्चा तेल कुछ महंगा भी हुआ लेकिन पेट्रोल-डीज़ल के दाम नहीं बढ़ाए गए।

इस साल फरवरी में कच्चे तेल का दाम 61 डॉलर प्रति बैरल था, जो मार्च में 64.73 डॉलर पर आ गया। अभी ये ये 68 डॉलर पर बिक रहा है। ऐसे में आने वाले दिनों में पेट्रोल डीजल के दाम और बढ़ सकते हैं।

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में 2 से 3 रुपये का इजाफा हो सकता है। ऐसे में आगने वाले दिनों में जब कोरोना का यह कर्फ्यू खत्म होगा तब जनता एक बार फिर महंगाई से परेशान होगी।



Related