अजगर ने रोक दिए मालगाड़ी के पहिये, चार घंटे बाद हो सकी रवाना


शहडोल रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर तीन पर एक मालगाड़ी को एक अजगर ने चार घंटे तक रोके रखा। यह अजगर मालगाड़ी के इंजन के पहिये पर लिपटा हुआ था।


देश गांव
शहडोल Published On :
python stopped goods train
सर्प विशेषज्ञ दीप श्रीवास्तव ने चार घंटे की मेहनत के बाद अजगर को सुरक्षित बाहर निकाला


शहडोल। शहडोल रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर तीन पर एक मालगाड़ी को एक अजगर ने चार घंटे तक रोके रखा। यह अजगर मालगाड़ी के इंजन के पहिये पर लिपटा हुआ था।

मंगलवार की रात काफी मशक्कत के बाद उसे बाहर निकाला जा सका, जिसके बाद ही मालगाड़ी आगे के लिए रवाना हो सकी।

लाइन संख्या 10 में खड़ी गाड़ी को रवाना करने पहुंचे लोको पायलट गुलाबचंद एवं सहायक लोको पायलट सीताराम ने ट्रेन का इंजन स्टार्ट करने के पूर्व नियमानुसार जायजा लेना शुरू किया। उन्हें पहिया पर सांप लिपटा दिखा।

उन्होंने इसकी सूचना दूसरी ट्रेन में फुट प्लेट के लिए पहुंचे लोको निरीक्षक राम अवध को दी। पहिये पर अजगर के लिपटे होने की जानकारी फैलने के कारण मौके पर लोगों की भीड़ जुट गई।

अजगर के मालगाड़ी के पहिये पर लिपटे होने की सूचना सर्प विशेषज्ञ दीप श्रीवास्तव को दी गई, जिन्होने देखा कि करीब 10 फिट लंबा अजगर पहिए के ऊपर अंडर गियर में लिपटा है।

उन्होंने उसे सुरक्षित बाहर निकाला और जंगल में छोड़ने के लिए ले गए। इस पूरी प्रक्रिया में करीब 4 घंटे लगे। इसके बाद गाड़ी आगे रवाना हो पाई।



Related