महाकाल मंदिर में दर्शन के लिए 100 रुपए में तत्काल बुकिंग का निर्णय वापस

देश गांव
उज्जैन Updated On :

उज्जैन। विश्व प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में भक्तों को निःशुल्क अग्रिम बुकिंग के आधार पर ही भगवान महाकाल के दर्शन होंगे। मंदिर समिति द्वारा हाल में लिया गया 100 रुपए में तत्काल बुकिंग का निर्णय वापस ले लिया गया है। दर्शनार्थी अब बिना अग्रिम बुकिंग के सीधे महाकाल मंदिर में प्रवेश करना चाहते हैं, तो उन्हें पूर्व व्यवस्था अनुसार 250 रुपए में शीघ्र दर्शन टिकट खरीदना होगा।

मंदिर प्रशासक सुजानसिंह रावत ने जानकारी दी कि 3 अक्टूबर को प्रबंध समिति की बैठक में श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए 100 रुपए में तत्काल बुकिंग की व्यवस्था शुरू करने का निर्णय लिया गया था। विरोध को देखते हुए प्रबंध समिति ने शुक्रवार को फिर से बैठक कर इस निर्णय को वापस ले लिया है। अब 3 अक्टूबर से पहले की व्यवस्था यथावत रहेगी यानी अग्रिम बुकिंग के आधार पर आम श्रद्धालुओं को भगवान के दर्शन होंगे। जिन लोगों को मंदिर में सीधे प्रवेश करना है, उन्हें 250 रुपए का शीघ्र दर्शन टिकट खरीदना होगा।

कोरोना संक्रमण के कारण केंद्र सरकार की गाइडलाइन के अनुसार मंदिर समिति द्वारा भक्तों को अग्रिम बुकिंग के आधार पर भगवान महाकाल के दर्शन कराए जा रहे हैं, लेकिन बाहर से आने वाले कई श्रद्धालु ऐसे भी हैं, जिन्हें मंदिर समिति की इस व्यवस्था की जानकारी नहीं है। वे बिना बुकिंग के ही मंदिर पहुंच जाते हैं। मंदिर समिति ने ऐसे दर्शनार्थियों की सुविधा के लिए मात्र 100 रुपए में तत्काल बुकिंग की व्यवस्था शुरू की थी। इस पर कुछ स्थानीय संगठनों ने विरोध शुरू कर दिया था। इसके बाद मंदिर समिति ने शुक्रवार शाम पुनः बैठक कर निर्णय वापस ले लिया।

तत्काल बुकिंग की व्यवस्था समाप्त होने से जिन लोगों को बिना बुकिंग भगवान महाकाल के दर्शन करना हैं, उन्हें 250 रुपए का शीघ्र दर्शन टिकट खरीदना होगा। अभी बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं को मात्र 100 रुपए में भगवान के दर्शन हो रहे थे। पूर्व व्यवस्था लागू होने के बाद प्रति व्यक्ति 150 रुपए अधिक चुकाना पड़ेंगे।



Related