उज्जैनः जहरीली शराब कांड के आरोपी व बर्खास्त कांस्टेबल की भैरवगढ़ जेल में मौत


उज्जैन में अक्टूबर में जहरीली शराब से 14 लोगों की मौत के मामले में आरोपी व बर्खास्त कांस्टेबल सुदेश खोड़े की बुधवार देर रात सेंट्रल जेल भैरवगढ़ में मौत हो गई। मामले में मैजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए गए हैं।   


Kumar Manish Kumar Manish
उज्जैन Published On :
ujjain-constable-sudesh-khode
File Photo


उज्जैन। उज्जैन में अक्टूबर में जहरीली शराब से 14 लोगों की मौत के मामले में आरोपी व बर्खास्त कांस्टेबल सुदेश खोड़े की बुधवार देर रात सेंट्रल जेल भैरवगढ़ में मौत हो गई। मामले में मैजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए गए हैं।

जेल प्रशासन से मिली प्रारंभिक जानकारी के मुताबिक, सिपाही सुदेश की मौत हार्ट अटैक से हुई। रात करीब पौने तीन बजे उसने सीने में दर्द की शिकायत की थी। जेल अस्पताल में इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया।

जेल अधीक्षक अलका सोनकर ने बताया कि रात में ही वायरलेस के माध्यम से वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को सूचना दे दी गई थी। खबर मिलते ही सुदेश का परिवार भी रात में ही जेल पहुंच गया था।

बता दें कि अक्टूबर में जहरीली शराब कांड में 14 लोगों की मौत हो गई थी, जिसमें महाकाल थाने में पदस्थ कांस्टेबल सुदेश खोड़े, खाराकुआं थाने में पदस्थ शेख अनवर व नवाज शरीफ को आरोपी बनाया गया था।

तीनों के खिलाफ विभागीय जांच की गई थी। जांच में तीनों को दोषी पाया गया था। नवाज शरीफ व शेख अनवर को पूर्व में ही गिरफ्तार कर जेल भेजने के साथ ही बर्खास्त कर दिया गया था।

कांस्टेबल सुदेश खोड़े लंबे समय तक फरार था और उस पर 10 हजार रुपये का इनाम भी घोषित किया गया था। बाद में पुलिस ने उसे उज्जैन के लक्ष्मीनगर रोड से गिरफ्तार किया था।

24 नवंबर को ही वह थाने में पेश हो गया था। इसके बाद 26 नवंबर को उसे जेल भेज दिया गया था। इस दौरान एसपी सत्येंद्र शुक्ला ने उसे बर्खास्त कर दिया था। गुरुवार को खोड़े की जेल में मौत हो गई।

इस मामले में कुल 16 आरोपित थे। खोड़े की मौत के बाद 15 आरोपित अब भी जेल में हैं। चार्जशीट दाखिल होने के बाद भी कोर्ट ने अभी किसी भी आरोपित को जमानत नहीं दी है।



Related