फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह का कोरोना से निधन, 3 जून को किया गया था अस्पताल में भर्ती


भारत के फ्लाइंग सिख का खिताब पाने वाले मशहूर भारतीय धावक मिल्खा सिंह (91 वर्ष) का कोरोना की वजह से शुक्रवार रात साढ़े 11 बजे निधन हो गया।


देश गांव
बड़ी बात Published On :
milkha-singh-passes-away

चंडीगढ़। भारत के फ्लाइंग सिख का खिताब पाने वाले मशहूर भारतीय धावक मिल्खा सिंह (91 वर्ष) का कोरोना की वजह से शुक्रवार रात साढ़े 11 बजे निधन हो गया।

बता दें कि 20 मई को उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इसके बाद उन्हें 3 जून को ऑक्सीजन लेवल गिरने के कारण चंडीगढ़ के PGIMER में ICU में भर्ती कराया गया था।

मिल्खा सिंह का चंडीगढ़ के PGIMER में 15 दिनों से इलाज चल रहा था। वहीं, उनकी मौत से 5 दिन पहले उनकी पत्नी निर्मल कौर का पोस्ट कोविड कॉम्प्लिकेशंस के कारण निधन हो गया था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, कपिल देव, सचिन तेंडुलकर सहित पूरा देश मिल्खा सिंह के निधन पर शोक जताते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दे रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमने एक शानदार खिलाड़ी खो दिया। मिल्खा ने असंख्य भारतीयों के दिलों में अपनी खास जगह बनाई थी। मिल्खा के व्यक्तित्व ने उन्हें लाखों लोगों का चहेता बना दिया। उनके निधन से दुखी हूं।

20 नवंबर 1929 को गोविंदपुरा (जो अब पाकिस्तान का हिस्सा है) के एक सिख परिवार में मिल्खा सिंह का जन्म हुआ था।

खेल और देश से बहुत लगाव था, इस वजह से विभाजन के बाद भारत भाग आए और भारतीय सेना में शामिल हो गए।

कुछ वक्त सेना में रहे लेकिन खेल की तरफ झुकाव होने की वजह से उन्होंने क्रॉस कंट्री दौड़ में हिस्सा लिया, जिसने आगे की स्पर्धाओं के रास्ते खोल दिए।



Related