इंदौर स्पा सेक्स कांड में पकड़े गए तीनों युवा नेताओं को भाजपा ने किया पार्टी से बर्खास्त


थाईलैंड की लड़कियों के साथ पकड़ाए थे भाजपा युवा मोर्चा के ये तीनों नेता। वनमंत्री विजय शाह की सफाई- फोटो खिंचवाने वाला हर कोई करीबी नहीं।


देश गांव
इन्दौर Published On :
bjym indore sex racket

खंडवा। इंदौर के एटम्स स्पा सेक्स मामले में थाईलैंड की लड़कियों के साथ पकड़े गए तीनों आरोपी भाजपा नेताओं को पार्टी ने मंगलवार को बर्खास्त कर दिया।

ये तीनों नेता खंडवा में मंत्री विजय शाह की हरसूद विधानसभा के खालवा मंडल में पदाधिकारी थे और उनके करीबी बताए जा रहे थे।

भाजपा जिलाध्यक्ष सेवादास पटेल ने मंगलवार को सेक्स कांड में शामिल होने के आरोप में उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया।

दूसरी तरफ, वन मंत्री विजय शाह ने सफाई देते हुए कहा कि उनके उन लोगों से कोई व्यक्तिगत संबंध नहीं थे और फोटो खिंचवाने से कोई करीबी नहीं हो जाता।

हमारे राजनीतिक प्रोग्राम होते रहते हैं। हो सकता है कि उन्होंने मेरे साथ तस्वीर भी ली हो। इससे मेरे उन लोगों से व्यक्तिगत संबंध नहीं हो जाते। हम लोग किसी को कोई संरक्षण नहीं देते, गलत काम का हम विरोध करते हैं। उन लोगों ने जो किया है, उसकी सजा कानून देगा।

– वनमंत्री विजय शाह

बता दें कि बीते गुरुवार को इंदौर पुलिस की क्राइम ब्रांच ने विजयनगर थाना क्षेत्र में स्थित एटम्स स्पा सेंटर पर छापा मारकर हाई प्रोफाइल सेक्स रैकेट का खुलासा किया था और वहां से थाईलैंड व इंदौर की 10 लड़कियों के साथ आठ युवकों को हिरासत में लिया था।

बाद में खुलासा हुआ कि इस सेक्स कांड में खंडवा भाजपा के पदाधिकारी भी शामिल थे, जिनमें खालवा मंडल युवा मोर्चा उपाध्यक्ष वरुण यादव व महामंत्री विवेक नामदेव समेत एक कार्यकर्ता अशोक सिंगला शामिल था।

सेक्स कांड में भाजपा नेताओं के शामिल होने का खुलासा होने के बाद मामले ने तूल पकड़ लिया और पार्टी की भी काफी किरकरी हुई, जिसके बाद जिलाध्यक्ष सेवादास पटेल ने तीनों पदाधिकारियों को निष्कासित कर दिया।

भाजपा जिलाध्यक्ष सेवादास पटेल ने कहा कि

मंडल अध्यक्ष ने दोनों पार्टी कार्यकर्ताओं के संबंध में जानकारी दी थी जिसके बाद पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से विचार कर दोनों को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है। भाजपा सिद्धांतों पर चलने वाली पार्टी है। पार्टी का कोई भी नेता इस तरह के कार्य में लिप्त पाया जाता है, तो पार्टी उस पर सख्त कार्रवाई करती है।



Related