भाजपा सांसद अर्जुन सिंह पार्टी से इस्तीफा देकर तृणमूल कांग्रेस में हुए शामिल


अर्जुन सिंह इस बात से नाराज थे कि केंद्र सरकार ने जूट की कीमतों को 6,500 रुपये प्रति क्विंटल करने की अधिसूचना को वापस ले लिया जबकि वे इसे लेकर लगातार मांग कर रहे थे।


देश गांव
राजनीति Updated On :

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी जहां देश भर में अपनी मजबूती साबित कर रही है तो वहीं पश्चिम बंगाल में उसके लिए बहुत अच्छा माहौल नजर नहीं आ रहा है। यहां पार्टी के पूर्व उपाध्यक्ष अर्जुन सिंह ने रविवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया और वे मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गए।

उन्होंने तृणमूल कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता ली। बनर्जी ने दक्षिण कोलकाता में उनके कार्यालय में स्वागत किया।

इसके बाद तृणमूल कांग्रेस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया, ‘पश्चिम बंगाल भाजपा इकाई के पूर्व उपाध्यक्ष और बैरकपुर से सांसद अर्जुन सिंह का अखिल भारतीय तृणमूल कांग्रेस परिवार में गर्मजोशी से स्वागत करते हैं। वह हमारे राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी की उपस्थिति में हमसे जुड़े।’

अर्जुन सिंह भारतीय जनता पार्टी के दूसरे सांसद हैं जो तृणमूल कांग्रेस में शामिल हुए हैं। उनसे पहले केंद्रीय मंत्री रहे बाबुल सुप्रियो ने भारतीय जनता पार्टी छोड़कर तृणमूल कांग्रेस की सदस्यता ली थी।

इससे कुछ दिन पहले अर्जुन सिंह ने पार्टी के राज्य नेतृत्व पर ठीक से काम करने की अनुमति नहीं देने के लिए निशाना साधा था। अर्जुन सिंह इस बात से नाराज थे कि केंद्र सरकार ने जूट की कीमतों को 6,500 रुपये प्रति क्विंटल करने की अधिसूचना को वापस ले लिया जबकि वे इसे लेकर लगातार मांग कर रहे थे।

बताया जाता है कि अर्जुन सिंह ने अपनी इस मांग को भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व तक भी पहुंचाया, लेकिन इसके बावजूद भी उनकी बात नहीं सुनी गई। हालांकि वे पिछले कई महीनों से तृणमूल कांग्रेस के संपर्क में थे। सिंह के बेटे पवन सिंह भाटपारा से भाजपा विधायक हैं और चर्चा है कि आने वाले दिनों में वे भी पार्टी छोड़ सकते हैं।

 



Related