दमोहः भैंसा ग्राम के युवक की संदेहास्पद मौत के मामले में हत्या का प्रकरण दर्ज


देशगांव खबर का असरः गैसाबाद पुलिस ने शून्य पर कायमी कर डायरी हटा पुलिस थाना भेजी। फिलहाल हटा पुलिस घटना का रिक्रिएशन कर जांच की तैयारी में जुटी हुई है।


लक्ष्मीकांत तिवारी
दमोह Updated On :
damoh-suicide-turns-in-murder-case

दमोह। शनिवार व रविवार की दरमियानी रात गैसाबाद थाना के अंतर्गत भैंसा ग्राम निवासी नीलेश पिता महेश दीक्षित की संदेहास्पद मौत पर गैसाबाद पुलिस ने हत्या का प्रकरण दर्ज किया है।

हटा निवासी अमन खान को मुख्य आरोपी बनाकर घटनास्थल हटा होने के कारण केस डायरी हटा पुलिस थाना भेज दी गई है।

घटना के संबंध में प्राप्त जानकारी के अनुसार शनिवार को नीलेश दीक्षित के साथ हटा में ट्रॉली किराये के भुगतान को लेकर अमन खान और उसके साथियों द्वारा गंभीर मारपीट की गई थी।

नीलेश को उसके गांव के सोनू राजा बचाकर भैंसा ग्राम ले गए थे और घर छोड़ दिया था, लेकिन नीलेश घर से ग़ायब हो गया और उसका शव दूसरे दिन रविवार को सुबह खेत मे मिला था।

गैसाबाद पुलिस ने जब पंचनामा बनाया तो मृतक के शव पर चोटों के निशान थे। सिर के पिछले हिस्से में गंभीर चोट का निशान भी मिला था। संदेह होने पर शव का डॉक्टरों की टीम से पैनल पीएम कराया गया।

डॉ. आरपी कोरी एवं डॉ. उमा शंकर पटेल ने शॉर्ट पीएम रिपोर्ट में नीलेश की मौत का कारण घातक चोटें बताया जिस पर गैसाबाद पुलिस ने हटा निवासी अमन खान को नामजद कर अन्य के साथ आईपीसी की धारा 302, 34 का प्रकरण पंजीबद्ध कर डायरी हटा पुलिस को सौंप दी।

बता दें कि नीलेश का शव जिस खेत में मिला था उसके पास एक कागज का लिखा हुआ टुकड़ा भी पुलिस को मिला जिसमें मौत के लिए तीन लोगों का लेन-देन बताकर उनका उल्लेख किया गया था ताकि पुलिस आत्महत्या का प्रकरण मानकर उलझ जाए।

लेकिन, पीएम रिपोर्ट ने इस सुसाइड नोट बने कागज को ही जांच के घेरे में ला दिया है। हटा थाना प्रभारी श्याम बैन का कहना है कि मृतक की हस्तलिपि की जांच कराई जायेगी जिससे यह खुलासा हो सके कि कागज पर मृतक ने ही लिखा है या किसी और ने।

फिलहाल हटा पुलिस घटना का रिक्रिएशन कर जांच की तैयारी में जुटी हुई है।



Related






ताज़ा खबरें