दमोह उपचुनावः 21 राउंड के बाद कांग्रेस के अजय टंडन को 14550 वोट की बढ़त


राहुल सिंह लोधी को जिताने के लिए प्रदेश सरकार के करीब छह मंत्री, एक दर्जन से अधिक विधायक और कई सांसद सहित मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल तक प्रचार में जुटे रहे थे।


देश गांव
दमोह Updated On :
damoh-byelection

दमोह। उपचुनाव की वोटिंग जारी है। 21 राउंड के बाद विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी अजय टंडन अपने प्रतिद्वंदी भाजपा प्रत्याशी राहुल सिंह लोधी से 14550 मतों से आगे हैं।

मतगणना में कुल 26 राउंड तक मतगणना होनी है और अब केवल 5 राउंड की मतगणना ही शेष बची है। बता दें कि आख़िरी के छह राउंड में ग्रामीण क्षेत्र के मत गिने जा रहे हैं।

हालांकि मौजूदा स्थिति में टंडन कहीं ज़्यादा मज़बूत नज़र आ रहे हैं और अगर ये बढ़त आसानी से घटने वाली नहीं है। ऐसे में अगर भाजपा को बीच के चरणों में कुछ कामयाबी मिल भी जाए तो भी आख़िरी चरणों की मतगणना आसान नहीं होगी क्योंकि शुरुआती चरणों में काफ़ी स्थिति साफ हो चुकी है।

यहां सबसे महत्वपूर्ण बात जो देखने को मिल रही है वह है भाजपा के राहुल सिंह लोधी का विरोध। राहुल अपने गृह क्षेत्र में हार गए हैं। उनके निवास क्षेत्र खेरुआ गांव में मतदान केंद्र क्रमांक 12 पर राहुल सिंह को 108 वोट मिले हैं जबकि कांग्रेस के अजय टंडन को यहां 206 वोट मिले हैं यानी राहुल सिंह 98 वोट से अपना बूथ हार गए हैं।

राहुल सिंह लोधी को जिताने के लिए प्रदेश सरकार के करीब छह मंत्री, एक दर्जन से अधिक विधायक और कई सांसद सहित मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल तक प्रचार में जुटे रहे थे। वहीं भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा तो करीब पंद्रह दिनों तक दमोह में ही जमे रहे।

राहुल सिंह लोधी के बारे में जनता में शुरू से कुछ नाराज़गी का माहौल था। वे कांग्रेस छोड़ने वाले आख़िरी विधायक थे। एक समय राहुल कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के नज़दीकी बताए जाते थे, लेकिन पार्टी छोड़ने के बाद वे मौजूदा सीएम शिवराज सिंह चौहान के करीबी हो गए।



Related