सीधी: जंगली हाथियों ने बाप-बेटे समेत तीन ग्रामीणों को कुचल कर मार डाला


सीधी जिले के अंतर्गत आने वाले संजय टाइगर रिजर्व क्षेत्र से लगे पोड़ी खैरी गांव में बीती रात हाथियों ने तीन लोगों को कुचल कर मार डाला। जानकारी के मुताबिक, मारे गए लोगों में एक पिता और उसके दो बेटे शामिल हैं।


देश गांव
रीवा Updated On :
sidhi-elephant-crush

सीधी। सीधी जिले के अंतर्गत आने वाले संजय टाइगर रिजर्व क्षेत्र से लगे पोड़ी खैरी गांव में बीती रात हाथियों ने तीन लोगों को कुचल कर मार डाला। जानकारी के मुताबिक, मारे गए लोगों में एक पिता और उसके दो बेटे शामिल हैं।

घटना की जानकारी लगते ही संजय टाइगर रिजर्व के संयुक्त संचालक एए अंसारी व सहायक संचालक जया पांडे समेत अमला मौके पर पहुंच गया।

जानकारी के अनुसार सोमवार की रात करीब साढ़े दस बजे हाथियों का झुंड खैरी गांव पहुंचा जहां रामपाल (9 साल) पुत्र राम बहोर और रामप्रसाद (11 साल) पुत्र राम भंवर अपने छोटे बाबा गोरेलाल (50 साल) पुत्र सिया शरण के साथ घर में थे।

जैसे ही हाथियों का झुंड उनके घर के पास पहुंचा तो वह घर से निकलकर भागने लगे, सबसे पहले हाथियों ने गोरेलाल को सूंड से उठा लिया और पकड़कर पैर रख दिया, जिससे उसकी मौत हो गई। इसके बाद रामपाल और रामप्रसाद को भी पैरों से दबा दिया।

बता दें कि संजय टाइगर रिजर्व में चार वर्षों से हाथियों का झुंड छत्तीसगढ़ से होकर आ रहा है। अबकी बार ये हाथी गांव को निशाना बना रहे हैं। हाथियों के आतंक से बचने के लिए कई इंतजाम किए गए हैं, लेकिन हाथी अलग-अलग रास्तों से गांव में प्रवेश कर जाते हैं, जिसके कारण यह घटना हुई।

बताया जा रहा है कि बीते कई दिनों से छह से सात हाथियों का झुंड टाइगर रिजर्व क्षेत्र में घूम में रहा है। हाथियों द्वारा इस तरह से गांववालों को कुचलकर मार डालने की घटना के बाद गांव में कोहराम मचा हुआ है।

फिलहाल गांव में भारी संख्या में वन विभाग एवं पुलिस विभाग का अमला मौजूद है। बताया जा रहा है कि हाथियों ने वन विभाग की गाड़ियों को भी अपना निशाना बनाया है।

हादसे के बाद घटनास्थल के आधा किलोमीटर की दूरी पर ग्रामीणों ने मारे गए लोगों के परिजनों को उचित मुआवजे की मांग को लेकर सड़क पर जाम लगा दिया। वन विभाग और संजय टाइगर रिजर्व के अधिकारी मौके पर पहुंचे और उन्हें समझाइश दी। इस दौरान पुलिस अमला भी मौके पर तैनात रहा।