36 साल पुरानी नाराज़गी पर भारत जोड़ो यात्रा के बीच पार्टी छोड़ गए पूर्व प्रदेश प्रवक्ता सलूजा


सलूजा ने पार्टी छोड़ने के पीछे सिख विरोधी दंगों को लेकर कांग्रेस से नाराजगी को बताया कारण


देश गांव
राजनीति Published On :

भोपाल। मध्य प्रदेश में राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के बीच  कांग्रेस को एक निराश करने वाली खबर भी आई है। शुक्रवार को प्रदेश के पार्टी प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने पार्टी छोड़कर भाजपा की सदस्यता ले ली। बताया जाता है कि पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश कमेटी के अध्यक्ष कमलनाथ उनसे नाराज़ थे। सलूजा को कमलनाथ का करीबी माना जाता था, वे पार्टी के मीडिया विभाग के पूर्व उपाध्यक्ष भी रहे हैं।

शुक्रवार को जब राहुल गांधी सनावद में भारत और कांग्रेस के पुराने कार्यकर्ताओं को जोड़ने की यात्रा कर रहे थे ठीक उसी समय सलूजा कांग्रेस पार्टी छोड़ रहे थे। सलूजा के कांग्रेस छोड़ने का असर पार्टी पर कोई बहुत अधिक नहीं पड़ेगा क्योंकि वे पार्टी को जमीनी स्तर पर कोई फायदा या नुकसान नहीं पहुंचा सकते लेकिन जहां बार भारत और कांग्रेस जोड़ने की हो रही हो वहां एक सदस्य का जाना निराश करने वाला है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सलूजा को भाजपा की सदस्यता दिलाई। नरेंद्र सलूजा का बीजेपी में शामिल होना कमलनाथ और कांग्रेस के लिए बड़ा झटका है और इसका असर राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के मध्य प्रदेश चरण पर भी पड़ सकता है।

दरअसल, सलूजा बीते दिनों 10 नवंबर को कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ इंदौर में हुए  एक कार्यक्रम में शामिल होने गए थे। इसी कार्यक्रम के बाद कीर्तन गायक मनरीत सिंह कनपुरिया ने आयोजन समिति को जमकर फटकार लगाई। मानपुरिया का कहना था कि सिख विरोधी दंगों के पीछे कमलनाथ का हाथ था और इसलिए उन्हें पंजाबियों के कार्यक्रम में बुलाना गलत है। इसके बाद से ही सलूजा को इसे लेकर जिम्मेदार बताया जा रहा है।



Related