नगर निगम की कर बढ़ोत्तरी के ख़िलाफ़ सड़कों पर कांग्रेस, कहा ये मनमानी का टैक्स


भारतीय जनता पार्टी इसे लेकर विरोध तो कर रही है लेकिन उनके नेता अपनी ही सरकार के खिलाफ बयान देने से सीधे बच रहे हैं। कांग्रेस उनकी इस मजबूरी का फायदा जनता के बीच जाकर उठा रही है। 


vinay-yadav विनय यादव
इन्दौर Updated On :

इंदौर। नगर निगम के द्वारा की गई कर बढ़ोत्तरी का विरोध भाजपा और कांग्रेस दोनों ही प्रमुख दल कर रहे हैं। भाजपा जहां सरकार का सीधा विरोध करने से बच रही है तो वहीं कांग्रेस इस मुद्दे को भरपूर उछाल रही है।

कांग्रेस ने इसके विरोध में गुरुवार से जन जागरण अभियान शुरू किया है। कांग्रेस नेताओं ने सड़क पर आकर जनता तक अपनी बात पहुंचाई। इस दौरान  सीएम शिवराजसिंह चौहान के खिलाफ जमकर नारेबाजी हुई।  इंदौर में कांग्रेस विधायक एवं आगामी नगर निगम चुनाव में कांग्रेस के महापौर पद के प्रत्याशी बनाए गए संजय शुक्ला के द्वारा टैक्स बढ़ोत्तरी का सबसे पहले विरोध किया।

गुरुवार को संजय शुक्ला के नेतृत्व में कांग्रेसी कार्यकर्ता और नेता  शहर में पैदल घूमने के लिए निकले। इस दौरान वे जनता को बता रहे थे कि कैसे सरकार अब आम आदमी पर टैक्स लगातार बढ़ा रही है।

कांग्रेस का यह जनजागरण अभियान बड़ा गणपति चौराहा से शुरु हुआ।  इस अभियान में प्रदेश के पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा, जीतू पटवारी, विधायक विशाल पटेल, पूर्व विधायक अश्विन जोशी, सत्यनारायण पटेल, पूर्व सांसद प्रेमचंद गुड्डू, वरिष्ठ कांग्रेस नेता सुरजीत सिंह चड्ढा ,शेख अलीम, राजेश चौकसे, चिंटू चौकसे के सहित बड़ी संख्या में कांग्रेसजन मौजूद रहे।

इससे पहले  कांग्रेस के विधायक संजय शुक्ला और शहर अध्यक्ष विनय बाकलीवाल ने बड़ा गणपति मंदिर में जाकर पूजा अर्चना की। इसके बाद कांग्रेस के सारे नेता वाहन में सवार होकर जिंसी, इमली बाजार होते हुए राजवाड़ा के लिए रवाना हुए।

इसके बाद कांग्रेसी नेताओं का यह अभियान जवाहर मार्ग, मधुमिलन चौराहा, गीता भवन चौराहा, पलासिया चौराहा, विजय नगर चौराहा, पाटनीपुरा, परदेशीपुरा,  मालवा मिल चौराहे तक के क्षेत्रों में जारी रहा।

कांग्रेस विधायक संजय शुक्ला ने कहा है कि राज्य सरकार के द्वारा जनता की मुसीबतों को बढ़ाने के लिए नगर निगम के माध्यम से कर बढ़ोत्तरी की है और  नए कर थोपे गए हैं।

यह राज्य सरकार ही करवा रही है। उन्होंने कहा कि  यह कर निगम की जरूरत का कर नहीं है बल्कि प्रदेश सरकार की मनमानी का कर है। राज्य सरकार, इंदौर नगर निगम के अधिकार के 600 करोड़ रुपए रोककर बैठी हैं। उन्होंने बताया यह पैसा इंदौर को देने के बजाय कर में वृद्धि कर नागरिकों से पैसा वसूलने का षड्यंत्र रचा गया है।

भारतीय जनता पार्टी इसे लेकर विरोध तो कर रही है लेकिन उनके नेता अपनी ही सरकार के खिलाफ बयान देने से सीधे बच रहे हैं। कांग्रेस उनकी इस मजबूरी का फायदा जनता के बीच जाकर उठा रही है।   विधायक संजय शुक्ला ने प्रदेश में भाजपा के नेताओं और जनप्रतिनिधियों से अपील की है कि वे  इंदौर की इस लड़ाई में उनका साथ दें।

उन्होंने कहा कि  इस लड़ाई में इंदौर की जनता के साथ सभी राजनीतिक दलों के नेताओं और कार्यकर्ताओं को आकर खड़ा होना चाहिए। उन्होंने भाजपा नेताओं पर सीधी टिप्पणी तो नहीं की लेकिन कहा कि केवल बयान देकर टैक्स की दर बढ़ाने का विरोध करने के बजाय  भोपाल जाकर प्रदेश के मुख्यमंत्री से मिलकर विरोध जताना चाहिए।